Teenager Kidnap Dump His Three Year Old Cousin In Field So That He Escape Class 12 Board Exams – मध्यप्रदेश: बोर्ड परीक्षा से बचने के लिए तीन साल के भतीजे का अहरण किया, गिरफ्तार

0
39


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मोरेना
Updated Tue, 03 Mar 2020 10:15 AM IST

ख़बर सुनें

मध्यप्रदेश के मोरेना जिले के टुडिला गांव में सोमवार रात को एक टीनेजर ने अपने तीन साल के भतीजे का अपहरण करके उसे खेत में फेंक दिया। उसने ऐसा सिर्फ इसलिए किया ताकि वह मंगलवार को होने वाली अपनी 12वीं की बोर्ड परीक्षा से बच सके। पुलिस ने आरोपी की पहचान 18 साल के रणबीर के तौर पर की है।

रणबीर ने अपने तीन साल के भतीजे का उस समय अपहरण किया जब वह सो रहा था। उसने उसे रस्सी से बांधा और खेत में कुछ दूरी पर फेंक दिया। मोरेना के पुलिस अधीक्षक असित यादव ने कहा कि नोट में लिखी लिखावट अटपटी थी। उससे ऐसा लग रहा था कि रणबीर मंगलवार से शुरू हो रही परीक्षा नहीं देना चाहता था।

बच्चे की मां ने सुबह तीन बजे देखा कि उनका बच्चा गायब है। जिसके बाद पुलिस को जानकारी दी गई और जौरा पुलिस स्टेशन की एक गांव पहुंची। पुलिस को घटनास्थल पर हाथ से लिखा हुआ एक नोट मिला। जिसमें लिखा था कि बच्चे को ढूंढने के लिए रणबीर को भेजा जाना चाहिए।

पुलिस ने जब रणबीर से पूछताछ की तो उसने सच्चाई बयां कर दी। वह पुलिस को उस जगह पर ले गया जहां उसने बच्चे को छोड़ा था। बच्चे को सुरक्षित वहां से बरामद कर लिया गया और रणबीर पर अपहरण का मामला दर्ज किया गया है। यादव ने कहा, ‘रणबीर ने बच्चे का अपहरण करने की बात स्वीकार की है और उसे रस्सी से बांधकर छोड़ दिया था। जिससे कि वह बच्चे को ढूंढने के लिए जाए और परीक्षा न दे सके।’

मध्यप्रदेश के मोरेना जिले के टुडिला गांव में सोमवार रात को एक टीनेजर ने अपने तीन साल के भतीजे का अपहरण करके उसे खेत में फेंक दिया। उसने ऐसा सिर्फ इसलिए किया ताकि वह मंगलवार को होने वाली अपनी 12वीं की बोर्ड परीक्षा से बच सके। पुलिस ने आरोपी की पहचान 18 साल के रणबीर के तौर पर की है।

रणबीर ने अपने तीन साल के भतीजे का उस समय अपहरण किया जब वह सो रहा था। उसने उसे रस्सी से बांधा और खेत में कुछ दूरी पर फेंक दिया। मोरेना के पुलिस अधीक्षक असित यादव ने कहा कि नोट में लिखी लिखावट अटपटी थी। उससे ऐसा लग रहा था कि रणबीर मंगलवार से शुरू हो रही परीक्षा नहीं देना चाहता था।

बच्चे की मां ने सुबह तीन बजे देखा कि उनका बच्चा गायब है। जिसके बाद पुलिस को जानकारी दी गई और जौरा पुलिस स्टेशन की एक गांव पहुंची। पुलिस को घटनास्थल पर हाथ से लिखा हुआ एक नोट मिला। जिसमें लिखा था कि बच्चे को ढूंढने के लिए रणबीर को भेजा जाना चाहिए।

पुलिस ने जब रणबीर से पूछताछ की तो उसने सच्चाई बयां कर दी। वह पुलिस को उस जगह पर ले गया जहां उसने बच्चे को छोड़ा था। बच्चे को सुरक्षित वहां से बरामद कर लिया गया और रणबीर पर अपहरण का मामला दर्ज किया गया है। यादव ने कहा, ‘रणबीर ने बच्चे का अपहरण करने की बात स्वीकार की है और उसे रस्सी से बांधकर छोड़ दिया था। जिससे कि वह बच्चे को ढूंढने के लिए जाए और परीक्षा न दे सके।’





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here