Seven Members Of Congress Suspended From The House For Not Conducting Upon The Rules – लोकसभा में कांग्रेस के सात सांसद निलंबित, हंगामा करने पर हुई कार्रवाई

0
48


न्यूज डेस्क/डिजिटल ब्यूरो, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Thu, 05 Mar 2020 05:28 PM IST

लोकसभा में दिल्ली हिंसा को लेकर विपक्ष हंगामा कर रहा है
– फोटो : ANI

ख़बर सुनें

संसद में गुरुवार को भी दिल्ली हिंसा को लेकर विपक्षी पार्टियों ने दोनों सदनों में हंगामा किया। विपक्षी सांसदों ने हमें न्याय चाहिए के नारे लगाए। वहीं, लोकसभा में कांग्रेस के सात सदस्यों को सदन में नियमों के अनुरूप आचरण नहीं करने पर संसद के चालू सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित करने का प्रस्ताव पास किया गया।
 

 
इन सांसदों के नाम हैं- गौरव गोगोई, टीएन प्रतापन, डीन कुरियाकोसे, आर उन्नीथन, मणिकेम टैगोर, बेन्नी बेहनान और गुरजीत सिंह ओजला। इन सभी को शेष बजट सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया है। दूसरी ओर विपक्ष के हंगामे के कारण लोकसभा को कल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कांग्रेस सांसदों के निलंबन को लेकर कहा, ‘क्या है तानाशाही है? ऐसा लगता है कि सरकार नहीं चाहती कि दिल्ली हिंसा मुद्दे पर संसद में चर्चा हो, क्या इसलिए यह निलंबन हुआ है। हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं।’

 

दूसरी ओर संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा है कि वह अनुशासनहीनता और अहंकार की चरम सीमा पर पहुंच गए थे। कागज के कुछ टुकड़े लोकसभा अध्यक्ष की तरफ फेंके गए। यह अत्यंत निंदनीय और अनुचित है। 

बता दें कि संसद के बजट सत्र में दिल्ली हिंसा को लेकर जमकर हंगामा हो रहा है। विपक्ष इसपर सदन में बहस की मांग कर रहा है। लेकिन स्पीकर ओम बिरला ने इसपर होली के बाद चर्चा कराने की बात कही है। इसे लेकर कांग्रेस सांसद आक्रामक तरीके से विरोध में उतर आए हैं और सदन में लगातार हंगामा हो रहा है। 

 

संसद में गुरुवार को भी दिल्ली हिंसा को लेकर विपक्षी पार्टियों ने दोनों सदनों में हंगामा किया। विपक्षी सांसदों ने हमें न्याय चाहिए के नारे लगाए। वहीं, लोकसभा में कांग्रेस के सात सदस्यों को सदन में नियमों के अनुरूप आचरण नहीं करने पर संसद के चालू सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित करने का प्रस्ताव पास किया गया।

 

 
इन सांसदों के नाम हैं- गौरव गोगोई, टीएन प्रतापन, डीन कुरियाकोसे, आर उन्नीथन, मणिकेम टैगोर, बेन्नी बेहनान और गुरजीत सिंह ओजला। इन सभी को शेष बजट सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया है। दूसरी ओर विपक्ष के हंगामे के कारण लोकसभा को कल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कांग्रेस सांसदों के निलंबन को लेकर कहा, ‘क्या है तानाशाही है? ऐसा लगता है कि सरकार नहीं चाहती कि दिल्ली हिंसा मुद्दे पर संसद में चर्चा हो, क्या इसलिए यह निलंबन हुआ है। हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं।’

 

दूसरी ओर संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा है कि वह अनुशासनहीनता और अहंकार की चरम सीमा पर पहुंच गए थे। कागज के कुछ टुकड़े लोकसभा अध्यक्ष की तरफ फेंके गए। यह अत्यंत निंदनीय और अनुचित है। 

बता दें कि संसद के बजट सत्र में दिल्ली हिंसा को लेकर जमकर हंगामा हो रहा है। विपक्ष इसपर सदन में बहस की मांग कर रहा है। लेकिन स्पीकर ओम बिरला ने इसपर होली के बाद चर्चा कराने की बात कही है। इसे लेकर कांग्रेस सांसद आक्रामक तरीके से विरोध में उतर आए हैं और सदन में लगातार हंगामा हो रहा है। 

 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here