Security Forces Recovered 82000 Deadly Weapons Including Mk 4 Series Rifle, Hk33 Rifle And Beretta Carbine – देश में कहां से आए 82 हजार घातक हथियार? Mk4, Hk33 जैसी राइफलें और बरेटा कारबाइन भी शामिल

0
8


बरामद हथियार
– फोटो : अमर उजाला (फाइल)

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

देश में बड़े पैमाने पर अवैध हथियार आ रहे हैं। ये हथियार केवल सामान्य बंदूक, रिवाल्वर या पिस्टल तक सीमित नहीं हैं। इनमें 40 एमएम के अंडर बैरल ग्रेनेड लॉंन्चर, बरेटा कारबाइन, एमके 4 राइफल और एके 47 सीरीज की 56, 74 और 81 मॉडल वाली असॉल्ट राइफल भी शामिल हैं। सीआरपीएफ, बीएसएफ, एनआईए, असम राइफल, आईटीबीपी, एसएसबी, सीबीआई और विभिन्न राज्यों की पुलिस ने गत वर्ष 82187 हथियार पकड़े हैं।

सुरक्षा बलों ने न केवल हथियार बल्कि डेढ़ लाख कारतूस, हैंड ग्रेनेड और दूसरी विस्फोटक सामग्री भी जब्त की है। हथियारों की घातक खेप आतंकियों व नक्सलियों से बरामद की गई है, जबकि हल्के हथियार जैसे पिस्टल, रिवाल्वर और बंदूक विभिन्न राज्यों की पुलिस ने जब्त किए हैं। ये हथियार कई छोटे राज्यों की पुलिस के पास मौजूद हथियारों से अधिक हैं।

एनआईए ने विभिन्न मामलों में गत वर्ष तीन एके 47 और एक एलएमजी सहित करीब 25 हथियार पकड़े थे। आतंकियों के ठिकानों पर दी गई दबिश में 21 मैगजीन सहित 2241 कारतूस भी बरामद किए गए। एनसीआरबी रिपोर्ट के अनुसार, असम राइफल ने 313 घातक हथियार जब्त किए थे। इनमें 5 कारबाइन 5, 48 गन, 36 पिस्टल, 40 रिवाल्वर और 54 राइफलें बरामद की गई थीं। घातक हथियारों में एमके 4 सीरीज राइफल, एचके 33 राइफल और बरेटा कारबाइन शामिल हैं।

बीएसएफ ने बॉर्डर या उससे लगते सीमावर्ती इलाकों में लगभग 1,500 हथियार और सीआईएसएफ ने 19 हथियार पकड़े थे। सीआरपीएफ ने कश्मीर में आतंकियों के कब्जे से बड़े पैमाने पर घातक हथियार बरामद किए हैं। नक्सल प्रभावित इलाकों में भी ऐसे हथियार जब्त हुए हैं। इस बल के जवानों ने 256 कारबाइन और पिस्टल जब्त करने के अलावा 292 घातक हथियार जैसे एके 47 व इसके दूसरे मॉडल वाली राइफलें, यूबीजीएल व एचके सीरिज की राइफल बरामद की हैं। बीस हजार कारतूस, हैंड ग्रेनेड, आईईडी व दूसरी विस्फोटक सामग्री भी जब्त की गई हैं।

आईटीबीपी ने नक्सल प्रभावित क्षेत्र में 22 बड़े हथियार, एसएसबी ने नेपाल बॉर्डर व तैनाती के दूसरे इलाकों में 201 और सीबीआई ने 12 हथियार पकड़े थे। रिपोर्ट के मुताबिक, देश में कुल 149909 कारतूस एवं विस्फोटक सामग्री जब्त की गई हैं। राज्यों के पुलिस महकमे ने गत वर्ष 79547 गैर लाइसेंसी हथियार जब्त किए गए थे। केंद्रीय सुरक्षा बलों ने जो हथियार जब्त किए हैं, उनमें से अधिकांश हथियार विभिन्न ऑपरेशन के दौरान बरामद किए गए हैं।

सार

बीएसएफ ने बॉर्डर या उससे लगते सीमावर्ती इलाकों में लगभग 1,500 हथियार और सीआईएसएफ ने 19 हथियार पकड़े थे। सीआरपीएफ ने कश्मीर में आतंकियों के कब्जे से बड़े पैमाने पर घातक हथियार बरामद किए हैं…

विस्तार

देश में बड़े पैमाने पर अवैध हथियार आ रहे हैं। ये हथियार केवल सामान्य बंदूक, रिवाल्वर या पिस्टल तक सीमित नहीं हैं। इनमें 40 एमएम के अंडर बैरल ग्रेनेड लॉंन्चर, बरेटा कारबाइन, एमके 4 राइफल और एके 47 सीरीज की 56, 74 और 81 मॉडल वाली असॉल्ट राइफल भी शामिल हैं। सीआरपीएफ, बीएसएफ, एनआईए, असम राइफल, आईटीबीपी, एसएसबी, सीबीआई और विभिन्न राज्यों की पुलिस ने गत वर्ष 82187 हथियार पकड़े हैं।

सुरक्षा बलों ने न केवल हथियार बल्कि डेढ़ लाख कारतूस, हैंड ग्रेनेड और दूसरी विस्फोटक सामग्री भी जब्त की है। हथियारों की घातक खेप आतंकियों व नक्सलियों से बरामद की गई है, जबकि हल्के हथियार जैसे पिस्टल, रिवाल्वर और बंदूक विभिन्न राज्यों की पुलिस ने जब्त किए हैं। ये हथियार कई छोटे राज्यों की पुलिस के पास मौजूद हथियारों से अधिक हैं।

एनआईए ने विभिन्न मामलों में गत वर्ष तीन एके 47 और एक एलएमजी सहित करीब 25 हथियार पकड़े थे। आतंकियों के ठिकानों पर दी गई दबिश में 21 मैगजीन सहित 2241 कारतूस भी बरामद किए गए। एनसीआरबी रिपोर्ट के अनुसार, असम राइफल ने 313 घातक हथियार जब्त किए थे। इनमें 5 कारबाइन 5, 48 गन, 36 पिस्टल, 40 रिवाल्वर और 54 राइफलें बरामद की गई थीं। घातक हथियारों में एमके 4 सीरीज राइफल, एचके 33 राइफल और बरेटा कारबाइन शामिल हैं।

बीएसएफ ने बॉर्डर या उससे लगते सीमावर्ती इलाकों में लगभग 1,500 हथियार और सीआईएसएफ ने 19 हथियार पकड़े थे। सीआरपीएफ ने कश्मीर में आतंकियों के कब्जे से बड़े पैमाने पर घातक हथियार बरामद किए हैं। नक्सल प्रभावित इलाकों में भी ऐसे हथियार जब्त हुए हैं। इस बल के जवानों ने 256 कारबाइन और पिस्टल जब्त करने के अलावा 292 घातक हथियार जैसे एके 47 व इसके दूसरे मॉडल वाली राइफलें, यूबीजीएल व एचके सीरिज की राइफल बरामद की हैं। बीस हजार कारतूस, हैंड ग्रेनेड, आईईडी व दूसरी विस्फोटक सामग्री भी जब्त की गई हैं।

आईटीबीपी ने नक्सल प्रभावित क्षेत्र में 22 बड़े हथियार, एसएसबी ने नेपाल बॉर्डर व तैनाती के दूसरे इलाकों में 201 और सीबीआई ने 12 हथियार पकड़े थे। रिपोर्ट के मुताबिक, देश में कुल 149909 कारतूस एवं विस्फोटक सामग्री जब्त की गई हैं। राज्यों के पुलिस महकमे ने गत वर्ष 79547 गैर लाइसेंसी हथियार जब्त किए गए थे। केंद्रीय सुरक्षा बलों ने जो हथियार जब्त किए हैं, उनमें से अधिकांश हथियार विभिन्न ऑपरेशन के दौरान बरामद किए गए हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here