Home Blog

Know All About First Coronavirus Vaccine Updates In Hindi Russia Vaccine To Be Register On 12 August Worlds First Covid 19 Vaccine – Coronavirus: दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन का पंजीकरण कल, जानें किसे मिलेगी पहले, कब से होगा टीकाकरण

0


लाइफस्टाइल डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली, Updated Tue, 11 Aug 2020 02:45 AM IST

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच दुनियाभर के कई देशों से अच्छी खबरें भी सामने आ रही हैं, जिनमें से सबसे बड़ी खबर कोरोना की वैक्सीन से जुड़ी है। भारत, रूस, ब्रिटेन, अमेरिका समेत कई देश इसकी वैक्सीन बनाने के काफी करीब पहुंच चुके हैं। रूस ने तो दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन का दावा किया है, जिसका 12 अगस्त यानी कल ही पंजीकरण कराने जा रहा है। रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, इसकी पूरी तैयारी है। हालांकि इस वैक्सीन पर अमेरिका, ब्रिटेन जैसे देशों के अलावा विश्व स्वास्थ्य संगठन भी आपत्ति जता चुका है। लेकिन संदेह और सवालों के बीच रूस इस वैक्सीन को लॉन्च करने और टीकाकरण अभियान की तैयारी में है। 



Source link

India China Disputes, People In Us Opposed Chinese Aggression Against India – भारत के खिलाफ चीनी आक्रामकता का अमेरिका में विरोध, कई समुदायों के लोग हुए शामिल

0


वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, वाशिंगटन
Updated Tue, 11 Aug 2020 02:56 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

चीन की भारत के साथ बढ़ती आक्रामकता और शिनजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिमों व अल्पसंख्यक समूहों के साथ मानवाधिकार उल्लंघन पर दुनिया भर में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। अमेरिकी राजधानी और उससे लगे क्षेत्रों में भारतीय-अमेरिकियों के एक समूह ने यहां जबरदस्त प्रदर्शन किए जिसमें वियतनाम के अमेरिकी नागरिक और तिब्बती समुदाय के लोग भी शामिल हुए।

कैपिटल हिल के बाहर चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने नारे लगाए और यहां स्थित ऐतिहासिक राष्ट्रीय मॉल पर एकत्रित होकर उन्होंने चीन विरोधी पोस्टर-बैनर लहराए। प्रदर्शनकारियों ने मास्क पहनकर शारीरिक दूरी बनाए रखी और शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन किया।

वियतनाम के अमेरिकी समुदाय के नेता मैक जॉन ने कहा, हम यहां कम्युनिस्ट ज्यादतियों के कारण आए हैं हमारी चीन लोगों से कोई शत्रुता नहीं। इसी तरह, ओवरसीज फ्रैंड्स ऑफ बीजेपी यूएस के वरिष्ठ नेतृत्वकर्ता अदापा प्रसाद ने कहा, इन गर्मियों में जब पूरी दुनिया कोरोना वायरस से लड़ रही थी तब चीन दूसरे की जमीन पर अतिक्रमण की कोशिश में जुटा था। यह बात सिर्फ भारत में लद्दाख की ही नहीं, बल्कि उसके दूसरे पड़ोसियों के संबंध में भी है। अब समय है कि विश्व इस चीनी आक्रमकता के खिलाफ एकजुट हो।

भारत की पीठ में छुरा घोंपा
भारतीय मूल के अमेरिकी रिपब्लिकन एवं प्राउड अमेरिकन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी के संस्थापक पुनीत अहलुवालिया ने कहा, चीन के विरोध में राष्ट्रपति ट्रंप की कार्रवाई एकदम सही दिशा में है। वर्जीनिया के लेफ्टिनेंट गवर्नर बनने की दौड़ में शामिल अहलुवालिया ने कहा कि चीन को अंतरराष्ट्रीय नियम मानने ही होंगे। उसने अफ्रीका, ईरान में जो कुछ किया सब जानते हैं लेकिन चीन ने बारत की पीठ में भी छुरा घोंपा है।

नरेंद्र मोदी की प्रशंसा
ग्रेटर वाशिंगटन डीसी इलाके से प्रख्यात भारतीय-अमेरिकी सुनील सिंह ने भारत में चीनी एप प्रतिबंधित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, भारत के लोगों ने चीनी सामान खरीदना बंद कर दिया है, अमेरिकियों को भी ऐसा ही कदम उठाने की जरूरत है।

चीन की भारत के साथ बढ़ती आक्रामकता और शिनजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिमों व अल्पसंख्यक समूहों के साथ मानवाधिकार उल्लंघन पर दुनिया भर में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। अमेरिकी राजधानी और उससे लगे क्षेत्रों में भारतीय-अमेरिकियों के एक समूह ने यहां जबरदस्त प्रदर्शन किए जिसमें वियतनाम के अमेरिकी नागरिक और तिब्बती समुदाय के लोग भी शामिल हुए।

कैपिटल हिल के बाहर चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने नारे लगाए और यहां स्थित ऐतिहासिक राष्ट्रीय मॉल पर एकत्रित होकर उन्होंने चीन विरोधी पोस्टर-बैनर लहराए। प्रदर्शनकारियों ने मास्क पहनकर शारीरिक दूरी बनाए रखी और शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन किया।

वियतनाम के अमेरिकी समुदाय के नेता मैक जॉन ने कहा, हम यहां कम्युनिस्ट ज्यादतियों के कारण आए हैं हमारी चीन लोगों से कोई शत्रुता नहीं। इसी तरह, ओवरसीज फ्रैंड्स ऑफ बीजेपी यूएस के वरिष्ठ नेतृत्वकर्ता अदापा प्रसाद ने कहा, इन गर्मियों में जब पूरी दुनिया कोरोना वायरस से लड़ रही थी तब चीन दूसरे की जमीन पर अतिक्रमण की कोशिश में जुटा था। यह बात सिर्फ भारत में लद्दाख की ही नहीं, बल्कि उसके दूसरे पड़ोसियों के संबंध में भी है। अब समय है कि विश्व इस चीनी आक्रमकता के खिलाफ एकजुट हो।

भारत की पीठ में छुरा घोंपा
भारतीय मूल के अमेरिकी रिपब्लिकन एवं प्राउड अमेरिकन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी के संस्थापक पुनीत अहलुवालिया ने कहा, चीन के विरोध में राष्ट्रपति ट्रंप की कार्रवाई एकदम सही दिशा में है। वर्जीनिया के लेफ्टिनेंट गवर्नर बनने की दौड़ में शामिल अहलुवालिया ने कहा कि चीन को अंतरराष्ट्रीय नियम मानने ही होंगे। उसने अफ्रीका, ईरान में जो कुछ किया सब जानते हैं लेकिन चीन ने बारत की पीठ में भी छुरा घोंपा है।

नरेंद्र मोदी की प्रशंसा
ग्रेटर वाशिंगटन डीसी इलाके से प्रख्यात भारतीय-अमेरिकी सुनील सिंह ने भारत में चीनी एप प्रतिबंधित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, भारत के लोगों ने चीनी सामान खरीदना बंद कर दिया है, अमेरिकियों को भी ऐसा ही कदम उठाने की जरूरत है।



Source link

Sushant Singh Rajput Case Sandip Ssingh To Be Summoned By Enforcement Directorate – सुशांत सिंह राजपूत केस: इस बात को लेकर ठनका ईडी का माथा, संदीप सिंह से हो सकती है पूछताछ

0


एंटरटेनमेंट डेस्क, अमर उजाला, Updated Tue, 11 Aug 2020 03:06 AM IST

संदीप सिंह, अंकित लोखंडे, सुशांत सिंह राजपूत
– फोटो : Social Media

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने एक बार फिर रिया चक्रवर्ती से पूछताछ की। इससे पहले इस केस में ईडी रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक, उनके पिता इंद्रजीत और सुशांत की बिजनेस मैनेजर रहीं श्रुति मोदी से पूछताछ कर चुकी है। अब कहा जा रहा है कि ईडी निर्माता संदीप सिंह से भी पूछताछ कर सकती है।



Source link

Rajasthan Political Crisis Ends, Sachin Pilot Meets Rahul Gandhi And Priyanka Gandhi, Ashok Gehlot, Full Updates – राजस्थान सियासी संकट: हाईकमान से मिलकर पायलट की तल्खी दूर, शिकायतों पर विचार करेगी समिति

0


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

अपनी ही सरकार के खिलाफ बगावत करने वाले राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के तेवर नरम पड़ गए हैं। इसके चलते अशोक गहलोत सरकार का संकट टलता दिख रहा है। करीब 31 दिन की खुली नाराजगी के बाद पायलट ने सोमवार को राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात की।

देर रात, 15 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड स्थित कांग्रेस के वॉर रूम में प्रियंका के साथ दूसरी बैठक के बाद पायलट ने एक फेसबुक पोस्ट साझा की जिसमें उन्होंने लिखा कि मैं सोनिया जी, राहुल जी, प्रियंका गांधी जी और कांग्रेस नेताओं को हमारी शिकायतों पर ध्यान देने और उन्हें संबोधित करने के लिए धन्यवाद देता हूं। मेरा विश्वास दृढ़ है और मैं एक बेहतर भारत के लिए काम करता रहूंगा। उन्होंने कहा कि  राजस्थान के लोगों से किए गए वादों को पूरा करने और लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा करने के लिए मैं हमेशा संघर्ष करता रहूंगा। इस फेसबुक पोस्ट में उन्होंने प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के अन्य नेताओं के साथ दो तस्वीरें भी साझा की।

इससे पहले पायलट ने कहा कि हमारी लड़ाई पद की नहीं, सम्मान की थी। पार्टी पद देती है तो ले भी सकती है। हम अपनी बात पहुंचाना चाहते थे और पार्टी ने हमारी बात सुनी भी। इससे पहले, पायलट खेमे की शिकायताें को सुलझाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तीन सदस्यीय समिति का गठन किया।

सूत्रों के मुताबिक, गहलोत से खुली बगावत के बावजूद पायलट लगातार शीर्ष नेतृत्व के संपर्क में थे। इसी क्रम में पायलट और उनके समर्थक विधायकों ने रविवार को कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की, जिसके बाद उनकी राहुल के साथ बैठक तय हुई।

कांग्रेस आलाकमान पायलट सहित बागी विधायकों की वापसी के फार्मूले और भविष्य की भूमिका पर मंथन कर रहा है। दिनभर में दो बार हुई बैठकों में पायलट को यह स्पष्ट किया गया कि उन्हें सीएम पद नहीं मिलेगा। सूत्रों के मुताबिक कुछ समय बाद पायलट को कांग्रेस के केंद्रीय संगठन में भूमिका मिल सकती है।

यह भी पढ़ें: पार्टी हित में कुछ मुद्दों को उठाना जरूरी था, जल्द सुलझेंगे सभी विवाद : सचिन पायलट

वेणुगोपाल, पटेल, प्रियंका की समिति
कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा, हमारे सीएम गहलोत और पायलट दोनों खुश हैं। पायलट पार्टी के लिए काम करने को प्रतिबद्ध हैं। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से पायलट की शिकायतों पर विचार के लिए बनी समिति में पार्टी कोषाध्यक्ष अहमद पटेल, प्रियंका गांधी के साथ ही वेणुगोपाल भी शामिल हैं। देर रात कांग्रेस वार रूम में हुई बैठक में तीनों नेता मौजूद थे।

राहुल-पायलट की मुलाकात के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत से फोन पर बात की। माना जा रहा है इस दौरान उन्होंने विवाद के समाधान का रास्ता निकालने को कहा। इस बीच, पायलट खेमे के बागी विधायक राजस्थान लौटने लगे हैं। सोमवार को पार्टी से निलंबित विधायक भंवरलाल शर्मा जयपुर में गहलोत से मिले। वहीं, मंगलवार को पायलट सहित बाकी विधायक भी लौट सकते हैं।

यह भी पढ़ें: राजस्थान की राजनीति में नया मोड़, पायलट खेमे के नेता ने की गहलोत से मुलाकात, कहा कोई नाराजगी नहीं

ऐसे खुली सुलह की राह
गहलोत के खिलाफ खुली बगावत के चलते पायलट और बागी विधायकों की वापसी की राह आसान नहीं थी। पायलट से मुलाकात के दौरान वरिष्ठ नेताओं ने स्पष्ट किया था कि बिना शर्त माफी मांगने पर ही उन्हें शीर्ष नेतृत्व से मिलाया जाएगा। राहुल से बैठक के दौरान पायलट खेमे को स्पष्ट कहा गया कि अगर विधानसभा सत्र के दौरान बहुमत परीक्षण की स्थिति बनी तो सभी विधायकों को सरकार के समर्थन में वोट देना होगा।

दरअसल, विधायकों की खरीद-फरोख्त के मामले में एसओजी ने अंतिम रिपोर्ट सौंपी, जिसमें राष्ट्रद्रोह की धारा हटा दी गई। पायलट इसी मामले में नोटिस मिलने से नाराज हुए थे। इस बीच, गहलोत ने विधायक दल की बैठक में संकेत दिए थे कि अगर आलाकमान बागी विधायकों को माफ करता है तो उन्हें फैसला मंजूर होगा।

पायलट ने कहा कि आज से डेढ़ साल पहले हम जीतकर आए तब कांग्रेस अध्यक्ष ने मुझे डिप्टी सीएम पद की जिम्मेदारी दी। इस डेढ़ साल का जो अनुभव रहा उसे मैं आलाकमान के सामने रखना चाहता था और मैंने सारी बातें बताई हैं। मैंने कभी ऐसी भाषा, भावना या आचरण नहीं किया जो किसी के योग्य न हो। हम कांग्रेस से जीतकर आए हैं।

हमने जनता से जो वादे किए हैं उन्हें पूरा करना जरूरी है। जिन लोगों की मेहनत से सरकार बनी उनकी सरकार में भागीदारी होनी चाहिए। पार्टी ने हमारी बात सुनी और एक समिति बनाई, जो समयबद्ध तरीके से इन सब बातों का अच्छा निराकरण करेगी।

मैं शुरू से कह रहा हूं कि ये बातें सिद्धांत पर आधारित थीं। मुझे हमेशा लगा कि पार्टी के हित में इन चीजों को उठाना जरूरी है। प्रियंका जी ने हमारी और विधायकों की बातों को खुले मन से सुना है। इसके लिए उनका शुक्रिया।

अपनी ही सरकार के खिलाफ बगावत करने वाले राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के तेवर नरम पड़ गए हैं। इसके चलते अशोक गहलोत सरकार का संकट टलता दिख रहा है। करीब 31 दिन की खुली नाराजगी के बाद पायलट ने सोमवार को राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात की।

देर रात, 15 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड स्थित कांग्रेस के वॉर रूम में प्रियंका के साथ दूसरी बैठक के बाद पायलट ने एक फेसबुक पोस्ट साझा की जिसमें उन्होंने लिखा कि मैं सोनिया जी, राहुल जी, प्रियंका गांधी जी और कांग्रेस नेताओं को हमारी शिकायतों पर ध्यान देने और उन्हें संबोधित करने के लिए धन्यवाद देता हूं। मेरा विश्वास दृढ़ है और मैं एक बेहतर भारत के लिए काम करता रहूंगा। उन्होंने कहा कि  राजस्थान के लोगों से किए गए वादों को पूरा करने और लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा करने के लिए मैं हमेशा संघर्ष करता रहूंगा। इस फेसबुक पोस्ट में उन्होंने प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के अन्य नेताओं के साथ दो तस्वीरें भी साझा की।

इससे पहले पायलट ने कहा कि हमारी लड़ाई पद की नहीं, सम्मान की थी। पार्टी पद देती है तो ले भी सकती है। हम अपनी बात पहुंचाना चाहते थे और पार्टी ने हमारी बात सुनी भी। इससे पहले, पायलट खेमे की शिकायताें को सुलझाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तीन सदस्यीय समिति का गठन किया।

सूत्रों के मुताबिक, गहलोत से खुली बगावत के बावजूद पायलट लगातार शीर्ष नेतृत्व के संपर्क में थे। इसी क्रम में पायलट और उनके समर्थक विधायकों ने रविवार को कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की, जिसके बाद उनकी राहुल के साथ बैठक तय हुई।

कांग्रेस आलाकमान पायलट सहित बागी विधायकों की वापसी के फार्मूले और भविष्य की भूमिका पर मंथन कर रहा है। दिनभर में दो बार हुई बैठकों में पायलट को यह स्पष्ट किया गया कि उन्हें सीएम पद नहीं मिलेगा। सूत्रों के मुताबिक कुछ समय बाद पायलट को कांग्रेस के केंद्रीय संगठन में भूमिका मिल सकती है।

यह भी पढ़ें: पार्टी हित में कुछ मुद्दों को उठाना जरूरी था, जल्द सुलझेंगे सभी विवाद : सचिन पायलट

वेणुगोपाल, पटेल, प्रियंका की समिति
कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा, हमारे सीएम गहलोत और पायलट दोनों खुश हैं। पायलट पार्टी के लिए काम करने को प्रतिबद्ध हैं। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से पायलट की शिकायतों पर विचार के लिए बनी समिति में पार्टी कोषाध्यक्ष अहमद पटेल, प्रियंका गांधी के साथ ही वेणुगोपाल भी शामिल हैं। देर रात कांग्रेस वार रूम में हुई बैठक में तीनों नेता मौजूद थे।


आगे पढ़ें

सोनिया ने की गहलोत से बात



Source link

Cbi Raids On Four Locations In Ambiance Mall Irregularities Case – एंबियंस मॉल के निर्माण में अनियमितता के मामले में सीबीआई ने चार ठिकानों पर मारे छापे

0


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Tue, 11 Aug 2020 03:42 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

गुरुग्राम स्थित एंबियंस मॉल के निर्माण में हुई अनियमितता के मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने सोमवार को चार जगहों पर छापे मारे। जानकारी के मुताबिक, गड़बड़ियों की जांच के सिलसिले में सीबीआई की अलग-अलग टीमों ने दिल्ली, गुरुग्राम, पंचकूला और चंडीगढ़ में कई ठिकानों पर छापे मारे।

इस मामले में बीते महीने पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई ने एफआईआर दर्ज करने के बाद यह कार्रवाई की। 11 जुलाई को हाईकोर्ट ने सीबीआई से छह हफ्ते के भीतर एफआईआर दर्ज करके जांच शुरू कर दी जाए और छह महीने में जांच पूरी कर रिपोर्ट कोर्ट को सौंपी दी जाए। कोर्ट ने तीन महीने के भीतर स्टेटस रिपोर्ट बंद लिफाफे में जमा करने को कहा है। डॉ. अमिताभ सेन की जनहित याचिका पर हाईकोर्ट ने ये आदेश दिए थे।

यह है आरोप
जनहित याचिका में आरोप लगाया गया था कि गुरुग्राम में दिल्ली-जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर नथुरपुर गांव में एक ग्रुप हाउसिंग प्रोजेक्ट के लिए आवंटित 18.98 एकड़ जमीन में से आवासीय परिसरों के लिए केवल 7.9 एकड़ का इस्तेमाल किया गया, जबकि बाकी के हिस्से में कमर्शियल कॉम्प्लेक्स बना दिया गया।

गुरुग्राम स्थित एंबियंस मॉल के निर्माण में हुई अनियमितता के मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने सोमवार को चार जगहों पर छापे मारे। जानकारी के मुताबिक, गड़बड़ियों की जांच के सिलसिले में सीबीआई की अलग-अलग टीमों ने दिल्ली, गुरुग्राम, पंचकूला और चंडीगढ़ में कई ठिकानों पर छापे मारे।

इस मामले में बीते महीने पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई ने एफआईआर दर्ज करने के बाद यह कार्रवाई की। 11 जुलाई को हाईकोर्ट ने सीबीआई से छह हफ्ते के भीतर एफआईआर दर्ज करके जांच शुरू कर दी जाए और छह महीने में जांच पूरी कर रिपोर्ट कोर्ट को सौंपी दी जाए। कोर्ट ने तीन महीने के भीतर स्टेटस रिपोर्ट बंद लिफाफे में जमा करने को कहा है। डॉ. अमिताभ सेन की जनहित याचिका पर हाईकोर्ट ने ये आदेश दिए थे।

यह है आरोप
जनहित याचिका में आरोप लगाया गया था कि गुरुग्राम में दिल्ली-जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर नथुरपुर गांव में एक ग्रुप हाउसिंग प्रोजेक्ट के लिए आवंटित 18.98 एकड़ जमीन में से आवासीय परिसरों के लिए केवल 7.9 एकड़ का इस्तेमाल किया गया, जबकि बाकी के हिस्से में कमर्शियल कॉम्प्लेक्स बना दिया गया।



Source link

Shooting Outside White House, Donald Trump Escorted From News Briefing By Secret Service – अमेरिका: व्हाइट हाउस के बाहर गोलीबारी, राष्ट्रपति ट्रंप को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया

0


वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, वॉशिंगटन।
Updated Tue, 11 Aug 2020 04:05 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की प्रेस वार्ता के दौरान व्हाइट हाउस के बाहर गोलीबारी होने की खबर सामने आई है। स्वयं राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने बयान में इसकी पुष्टि की है। उन्होंने यह भी कहा कि संभवत: किसी शख्स को गोली लगी है और उसे अस्पताल ले जाया गया है। वहीं जानकारी के अनुसार, गोलीबारी की घटना के बाद राष्ट्रपति ट्रंप को सीक्रेट सर्विस के कर्मचारी सुरक्षित स्थान पर ले गए।
 

स्थिति नियंत्रण में आने के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने प्रेस वार्ता में मौजूद पत्रकारों को जानकारी दी कि व्हाइट हाउस के बाहर गोलीबारी हो रही थी। लगता है कि सबकुछ अच्छी तरह से नियंत्रण में कर लिया गया है। मैं गुप्त सेवा के कर्मचारियों को हमेशा उनकी त्वरित और बहुत प्रभावी कार्रवाई के लिए धन्यवाद देना चाहूंगा। किसी को अस्पताल ले जाया गया है। लगता है कि उस शख्स को सीक्रेट सर्विस द्वारा गोली मार दी गई थी।

साढ़े छह करोड़ से ज्यादा लोगों का किया कोरोना टेस्ट
राष्ट्रपति ट्रंप ने इस दौरान यह भी कहा कि अमेरिका में अब तक करीब साढ़े छह करोड़ लोगों का कोरोना टेस्ट किया जा चुका है और अन्य किसी भी देश ने इतनी बढ़ी संख्या में परीक्षण नहीं किए हैं। करीब डेढ़ अरब की आबादी वाला भारत भी एक करोड़ के लगभग परीक्षण करने के बाद दूसरे नंबर पर रह सकता है। मुझे पूरा विश्वास है कि इस साल के अंत तक हमारे पास इस महामारी का टीका उपलब्ध होगा। 

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की प्रेस वार्ता के दौरान व्हाइट हाउस के बाहर गोलीबारी होने की खबर सामने आई है। स्वयं राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने बयान में इसकी पुष्टि की है। उन्होंने यह भी कहा कि संभवत: किसी शख्स को गोली लगी है और उसे अस्पताल ले जाया गया है। वहीं जानकारी के अनुसार, गोलीबारी की घटना के बाद राष्ट्रपति ट्रंप को सीक्रेट सर्विस के कर्मचारी सुरक्षित स्थान पर ले गए।

 

स्थिति नियंत्रण में आने के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने प्रेस वार्ता में मौजूद पत्रकारों को जानकारी दी कि व्हाइट हाउस के बाहर गोलीबारी हो रही थी। लगता है कि सबकुछ अच्छी तरह से नियंत्रण में कर लिया गया है। मैं गुप्त सेवा के कर्मचारियों को हमेशा उनकी त्वरित और बहुत प्रभावी कार्रवाई के लिए धन्यवाद देना चाहूंगा। किसी को अस्पताल ले जाया गया है। लगता है कि उस शख्स को सीक्रेट सर्विस द्वारा गोली मार दी गई थी।

साढ़े छह करोड़ से ज्यादा लोगों का किया कोरोना टेस्ट
राष्ट्रपति ट्रंप ने इस दौरान यह भी कहा कि अमेरिका में अब तक करीब साढ़े छह करोड़ लोगों का कोरोना टेस्ट किया जा चुका है और अन्य किसी भी देश ने इतनी बढ़ी संख्या में परीक्षण नहीं किए हैं। करीब डेढ़ अरब की आबादी वाला भारत भी एक करोड़ के लगभग परीक्षण करने के बाद दूसरे नंबर पर रह सकता है। मुझे पूरा विश्वास है कि इस साल के अंत तक हमारे पास इस महामारी का टीका उपलब्ध होगा। 





Source link

Supreme Court Hearing On Bjp Mla Madan Dilawar Plea Against Bsp Congress Merger All Updates – राजस्थान सियासी संकट: बसपा विधायकों के कांग्रेस में जाने के खिलाफ याचिका पर सुनवाई आज

0


राजस्थान में सियासी उठापटक के बीच छह बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई होगी। जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ भाजपा विधायक मदन दिलावर और बसपा विधायकों की ओर से दायर याचिकाओं पर सुनवाई करेगी। बसपा विधायकों ने दिलावर की हाईकोर्ट में दायर याचिका को सुप्रीम कोर्ट भेजने की मांग की है। वहीं दिलावर ने हाईकोर्ट की एकल पीठ के फैसले को शीर्ष अदालत में चुनौती दी है।  

बसपा के छह विधायकों ने सर्वोच्च अदालत से अनुरोध किया है कि पार्टी व्हिप का उल्लंघन करने को लेकर उनके खिलाफ राजस्थान हाईकोर्ट में लंबित अयोग्यता याचिका को अपने पास ट्रांसफर कर लें।

टलता दिख रहा सियासी संकट
वहीं सोमवार को कांग्रेस आलाकमान से हुई मुलाकात के बाद राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के तेवर नरम पड़ गए। इसके चलते अशोक गहलोत सरकार का संकट टलता दिख रहा है। करीब 31 दिन की खुली नाराजगी के बाद पायलट ने सोमवार को राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात की।

सोमवार देर रात, 15 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड स्थित कांग्रेस के वॉर रूम में प्रियंका के साथ दूसरी बैठक के बाद पायलट ने एक फेसबुक पोस्ट साझा की जिसमें उन्होंने लिखा कि मैं सोनिया जी, राहुल जी, प्रियंका गांधी जी और कांग्रेस नेताओं को हमारी शिकायतों पर ध्यान देने और उन्हें संबोधित करने के लिए धन्यवाद देता हूं।

मेरा विश्वास दृढ़ है और मैं एक बेहतर भारत के लिए काम करता रहूंगा। उन्होंने कहा कि  राजस्थान के लोगों से किए गए वादों को पूरा करने और लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा करने के लिए मैं हमेशा संघर्ष करता रहूंगा। इस फेसबुक पोस्ट में उन्होंने प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के अन्य नेताओं के साथ दो तस्वीरें भी साझा कीं।

इससे पहले पायलट ने कहा कि हमारी लड़ाई पद की नहीं, सम्मान की थी। पार्टी पद देती है तो ले भी सकती है। हम अपनी बात पहुंचाना चाहते थे और पार्टी ने हमारी बात सुनी भी। इससे पहले, पायलट खेमे की शिकायताें को सुलझाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तीन सदस्यीय समिति का गठन किया।

सूत्रों के मुताबिक, गहलोत से खुली बगावत के बावजूद पायलट लगातार शीर्ष नेतृत्व के संपर्क में थे। इसी क्रम में पायलट और उनके समर्थक विधायकों ने रविवार को कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की, जिसके बाद उनकी राहुल के साथ बैठक तय हुई।

कांग्रेस आलाकमान पायलट सहित बागी विधायकों की वापसी के फार्मूले और भविष्य की भूमिका पर मंथन कर रहा है। दिनभर में दो बार हुई बैठकों में पायलट को यह स्पष्ट किया गया कि उन्हें सीएम पद नहीं मिलेगा। सूत्रों के मुताबिक कुछ समय बाद पायलट को कांग्रेस के केंद्रीय संगठन में भूमिका मिल सकती है।

वेणुगोपाल, पटेल, प्रियंका की समिति
कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा, हमारे सीएम गहलोत और पायलट दोनों खुश हैं। पायलट पार्टी के लिए काम करने को प्रतिबद्ध हैं। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से पायलट की शिकायतों पर विचार के लिए बनी समिति में पार्टी कोषाध्यक्ष अहमद पटेल, प्रियंका गांधी के साथ ही वेणुगोपाल भी शामिल हैं। देर रात कांग्रेस वार रूम में हुई बैठक में तीनों नेता मौजूद थे। 



Source link

Krishna Janmashtami Celebrations Start In Nandgaon – Janmashtami 2020: नंदगांव में आज जन्मेंगे कन्हाई, राधा का गांव गाएगा बधाई, चहुंओर छाया उल्लास

0


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मथुरा, Updated Tue, 11 Aug 2020 12:02 AM IST

जन्माष्टमी को लेकर कान्हा के नंदगांव में चहुंओर उमंग और उल्लास है। घर-घर मिठाइयां बन रहीं हैं। लोग एक-दूसरे को बधाई दे रहे हैं। ब्रज के लाला का मंगलवार को नंदगांव की धरा पर जन्म होगा। अपने सखा के जन्मदिन को लेकर नंदगांव के गोप उत्साहित हैं। तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे हैं। जन्म से पूर्व राधारानी के गांव बरसाना के ब्राह्मण समुदाय के कुछ लोग नंदबाबा को बधाई देने नंदगांव पहुंचेंगे। 



Source link

Breaking News And Covid19 Live Updates 11 August 2020 – Breaking News: पीएम मोदी को धमकी देने वाला शख्स नोएडा के फेज-3 से गिरफ्तार

0


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Tue, 11 Aug 2020 02:32 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

लाइव अपडेट

02:30 AM, 11-Aug-2020

ओडिशा में कॉमन पीजी एंट्रांस टेस्ट -2020 का आयोजन

ओडिशा में कॉमन पीजी एंट्रांस टेस्ट -2020 का आयोजन 30 सितंबर से सात अक्तूबर के बीच होगा। उच्च शिक्षा विभाग ने दी यह जानकारी।

02:16 AM, 11-Aug-2020

पीएम मोदी को धमकी देने वाला शख्स गिरफ्तार

पीएम मोदी को धमकी देने वाला शख्स हरभजन को नोएडा के फेज -3 थाना इलाके से गिरफ्तार किया गया है। इस शख्स पर आरोप है कि डायल 100 पर फोन कर पीएम नरेंद्र मोदी को धमकी दे रहा था। प्रथम दृष्टया वह ड्रग एडिक्ट लगता हैः-एडिशनल डीसीपी (सेंट्रल नोएडा) अंकुर अग्रवाल

02:06 AM, 11-Aug-2020

जकारी क्लार्क मैनहट्टन संघीय अदालत में दोषी करार

जकारी क्लार्क उर्फ उमर कबीर को मैनहट्टन संघीय अदालत ने इस्लामिक स्टेट ऑफ़ इराक एंड अल-शाम (आईएसआईएस) को सामग्री सहायता प्रदान करने के मामले में दोषी करार दिया हैः अमेरिकी न्याय विभाग

01:54 AM, 11-Aug-2020

हरियाणा सरकार ने सभी कर्मचारियों के लिए व्यापक प्रशिक्षण योजना

हरियाणा सरकार ने सभी कर्मचारियों और अधिकारियों के लिए एक व्यापक प्रशिक्षण योजना बनाई है ताकि उनकी दक्षता बढ़ाने के साथ-साथ उन्हें अगले 2 वर्षों में नवीनतम तकनीकों से परिचित कराया जा सके: राज्य सूचना और जनसंपर्क विभाग

01:51 AM, 11-Aug-2020

पुडुचेरी में गणेश चतुर्थी के अवसर पर सार्वजनिक स्थानों पर मूर्तियों के रखने पर प्रतिबंध

पुडुचेरी जिला मजिस्ट्रेट ने आदेश दिया है कि गणेश चतुर्थी के अवसर पर सार्वजनिक स्थानों, सभाओं और सार्वजनिक जुलूसों में मूर्तियों के रखने पर प्रतिबंध रहेगा। यह कदम COVID-19 महामारी के मद्देनजर है।

01:42 AM, 11-Aug-2020

वंदे भारत मिशन के तहत लगभग 10 लाख लोग भारत आए

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि वंदे भारत मिशन के तहत लगभग 10 लाख लोगों को भारत लाया गया। वहीं 1 लाख 30 हजार दूसरे देश भी गए हैं।

01:13 AM, 11-Aug-2020

Breaking News: पीएम मोदी को धमकी देने वाला शख्स नोएडा के फेज-3 से गिरफ्तार

असम में सोमवार को कोरोना के 2900 नए मामले सामने आने से राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 61,737 हो गई है। इनमें से 42,325 डिस्चार्ज, 19,258 सक्रिय मामले और 151 मौतें शामिल हैं।





Source link

In World Coronavirus Infected 20 Million, Donald Trumps Relief Package In Us Causes Confusion And Uncertainty – विश्व में कोरोना संक्रमित दो करोड़ के पार, अमेरिका में ट्रंप के राहत पैकेज से भ्रम और अनिश्चितता के हालात

0


दुनिया में कोरोना संक्रमितों की संख्या सोमवार तक दो करोड़ पार हो गई। 31 दिसंबर को पहला मामला सामने आने के बाद एक करोड़ मामलों में जहां छह माह लगे वहीं सिर्फ पिछले 43 दिनों में यह आंकड़ा बढ़कर दो करोड़ को पार कर गया है। इस बीच, राष्ट्रपति ट्रंप ने विशेषाधिकारों का उपयोग करते हुए बेरोजगारों के लिए जिस राहत पैकेज के आदेश पर दस्तखत किए उसे लेकर भ्रम के हालात हैं।

अमेरिका में लॉकडाउन जैसे हालातों के चलते बेरोजगार हुए लोगों और कारोबारियों में अनिश्चतता और भ्रम की स्थिति है, क्योंकि यह धनराशि राज्यों के अधिकारियों के साथ होने वाले समझौते पर निर्भर करेगी। ये राज्य पहले ही आर्थिक संकट के कारण बजट की कमी से जूझ रहे हैं।

इनमें से कई राज्यों में तूफान पीड़ितों के लिए भी बजट की व्यवस्था करनी है। ट्रंप ने इस पैकेज पर संसद की मंजूरी न मिलने के बावजूद हस्ताक्षर किए हैं। ट्रंप ने जिन उपायों पर दस्तखत किए हैं उनका मकसद बेरोजगारी लाभ को पुनर्जीवित करना है।

लेकिन यदि राज्यों से समझौता करने में संघीय व्यवस्था नाकाम रही तो पैकेज का लाभ बेरोजगारों को मिलना मुश्किल हो जाएगा। इस बीच, अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 52 लाख के करीब पहुंच चुकी है। जबकि विश्व में मरने वालों की संख्या 7.34 लाख का आंकड़ा पार कर गई है।

…और ट्रंप ने बीच में ही छोड़ी प्रेस कांफ्रेंस
अमेरिकी राष्ट्रपति ने झूठ पकड़े जाने पर प्रेस कांफ्रेंस बीच में ही छोड़ दी। वह ओबामा प्रशासन में पास हुए एक हेल्थ केयर प्रोग्राम को अपनी उपलब्धि बता रहे थे। ट्रंप ने रिटायर्ड कर्मियों के लिए निजी अस्पतालों में इलाज के लिए वह सब किया जो दशकों से लोग पास कराना चाहते थे।

इस बीच सीबीएस न्यूज की रिपोर्टर पाउला रेड ने कहा कि इसे तो बराक ओबामा 2014 में ही पास करा चुके हैं। यह सुनकर ट्रंप रुके और कहा, ‘ओके, आप सभी का बहुत धन्यवाद।’ इसके बाद वे वहां से चले गए।

ब्राजील : अब तक 1.01 लाख से ज्यादा मौतें
देश में 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस से 572 मरीजों की मौत हुई हैं और इसके साथ ही इस वायरस से होने वाली मौतों की संख्या 1.01 लाख को पार कर गई है। वहीं, यहां पिछले 24 घंटों के दौरान इस संक्रमण के 23,010 नए मामले दर्ज किए गए हैं। अब इससे प्रभावित होने वाले लोगों का आंकड़ा यहां 30.35 लाख को पार कर गया है। अमेरिका के बाद ब्राजील विश्व में दूसरे नंबर पर है।

पाकिस्तान में कोरोना के मामले 2.84 लाख के पार
पाकिस्तान में कोरोना संक्रमितों की संख्या में जबरदस्त उछाल आया है। यहां कोरोना के मामले बढ़कर 2,84,660 हो गए हैं। पाकिस्तान सरकार के अनुसार, बीते 24 घंटे में 539 नए मामले सामने आए हैं। अब तक पाकिस्तान में कोरोना से 6,097 लोगों की मौत हो गई है। जबकि 2,60,764 मरीज रिकवर हो चुके हैं। 776 मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है।



Source link