Our Govt Is Committed To Ensuring That Depositors’ Interests Are Safeguarded: Nirmala Sitharaman – मैं भरोसा दिलाती हूं कि यस बैंक के हर जमाकर्ता का पैसा सुरक्षित है: वित्त मंत्री

0
47


ख़बर सुनें

यस बैंक संकट को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैंक के ग्राहकों को भरोसा दिया है। सीतारमण ने कहा कि मैं भरोसा दिलाना चाहती हूं कि यस बैंक के हर जमाकर्ता का धन सुरक्षित है, मैं रिजर्व बैंक के साथ लगातार संपर्क में हूं। रिजर्व बैंक ने मुझे भरोसा दिलाया है कि यस बैंक के किसी भी ग्राहक को कोई नुकसान नहीं होगा। 

उन्होंने कहा कि यस बैंक के मुद्दे को रिजर्व बैंक और सरकार विस्तृत तौर पर देख रहे हैं, हमने वह रास्ता अपनाया है जो सबके हित में होगा। वित्त मंत्री ने कहा कि रिजर्व बैंक एक नियामक के तौर पर यस बैंक के मुद्दे का तेजी से समाधान करने की दिशा में काम कर रहा है, यह कदम जमाकर्ताओं, बैंक और अर्थव्यवस्था के हित में उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि यस बैंक के ग्राहकों के लिए 50,000 रुपये की सीमा में पैसा निकालना सुनिश्चित करना सबसे पहली प्राथमिकता है। 

वित्त मंत्री ने कहा, बैंक ने अपनाई खतरनाक नीति

शाम करीब 5 बजे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कांफ्रेंस में एक बार फिर ग्राहकों को भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि 2017 से आरबीआई लगातार यस बैंक की स्थिति पर नजर रखे हुए है। ऐसा देखा गया कि बैंक में गवर्नेंस का मुद्दा है और बैंक के अनुपालन में भी कमी है। कर्ज देने की खतरनाक नीति के साथ पैसों का भी गलत श्रेणीकरण किया गया। 
 

जमाकर्ताओं का पैसा रहेगा सुरक्षित 

वित्त मंत्री ने कहा कि, हमारी सरकार भरोसा दिलाती है कि जमाकर्ताओं का पैसा सुरक्षित रहेगा। मैं आरबीआई से गुजारिश करती हूं कि वह कानून के मुताबिक इस मामले की गंभीरता और महत्व को समझते हुए ऐसा रास्ता निकाले जिससे लोगों की परेशानियां कम हों। 

एसबीआई ने जताई यस बैंक में निवेश की इच्छा

उन्होंने कहा कि आरबीआई ने भरोसा दिया है कि पाबंदी लगे रहने की अवधि के अंदर ही पुनर्निर्माण योजना अमल में लाई जाएगी। एसबीआई ने यस बैंक में निवेश करने की इच्छा जताई है। साथ ही कहा कि बैंक के कर्मचारियों को कम से कम एक साल तक वेतन जरूर मिलेगा। 

 

यस बैंक संकट को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैंक के ग्राहकों को भरोसा दिया है। सीतारमण ने कहा कि मैं भरोसा दिलाना चाहती हूं कि यस बैंक के हर जमाकर्ता का धन सुरक्षित है, मैं रिजर्व बैंक के साथ लगातार संपर्क में हूं। रिजर्व बैंक ने मुझे भरोसा दिलाया है कि यस बैंक के किसी भी ग्राहक को कोई नुकसान नहीं होगा। 

उन्होंने कहा कि यस बैंक के मुद्दे को रिजर्व बैंक और सरकार विस्तृत तौर पर देख रहे हैं, हमने वह रास्ता अपनाया है जो सबके हित में होगा। वित्त मंत्री ने कहा कि रिजर्व बैंक एक नियामक के तौर पर यस बैंक के मुद्दे का तेजी से समाधान करने की दिशा में काम कर रहा है, यह कदम जमाकर्ताओं, बैंक और अर्थव्यवस्था के हित में उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि यस बैंक के ग्राहकों के लिए 50,000 रुपये की सीमा में पैसा निकालना सुनिश्चित करना सबसे पहली प्राथमिकता है। 

वित्त मंत्री ने कहा, बैंक ने अपनाई खतरनाक नीति

शाम करीब 5 बजे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कांफ्रेंस में एक बार फिर ग्राहकों को भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि 2017 से आरबीआई लगातार यस बैंक की स्थिति पर नजर रखे हुए है। ऐसा देखा गया कि बैंक में गवर्नेंस का मुद्दा है और बैंक के अनुपालन में भी कमी है। कर्ज देने की खतरनाक नीति के साथ पैसों का भी गलत श्रेणीकरण किया गया। 
 

जमाकर्ताओं का पैसा रहेगा सुरक्षित 

वित्त मंत्री ने कहा कि, हमारी सरकार भरोसा दिलाती है कि जमाकर्ताओं का पैसा सुरक्षित रहेगा। मैं आरबीआई से गुजारिश करती हूं कि वह कानून के मुताबिक इस मामले की गंभीरता और महत्व को समझते हुए ऐसा रास्ता निकाले जिससे लोगों की परेशानियां कम हों। 

एसबीआई ने जताई यस बैंक में निवेश की इच्छा

उन्होंने कहा कि आरबीआई ने भरोसा दिया है कि पाबंदी लगे रहने की अवधि के अंदर ही पुनर्निर्माण योजना अमल में लाई जाएगी। एसबीआई ने यस बैंक में निवेश करने की इच्छा जताई है। साथ ही कहा कि बैंक के कर्मचारियों को कम से कम एक साल तक वेतन जरूर मिलेगा। 

 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here