Madhya Pradesh Election Commission Issues Notice To Bjp Candidate Imarti Devi Kamal Nath – मध्य प्रदेश : चुनाव आयोग ने भाजपा नेता इमरती देवी को नोटिस भेजा, 48 घंटे के भीतर मांगा जवाब

0
5


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली

Updated Tue, 27 Oct 2020 04:34 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

चुनाव आयोग ने मंगलवार को मध्यप्रदेश के उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी इमरती देवी को राजनीतिक प्रतिद्वंदी को पागल कहने और उनके परिवार की महिला सदस्यों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए नोटिस जारी किया है। आयोग ने 48 घंटे के अंदर नोटिस का जवाब देने को कहा है। अगर इमरती देवी ने आयोग द्वारा दी गई समय-सीमा के अंदर जवाब नहीं दिया, तो फिर आयोग इस संदर्भ में उचित कार्रवाई करेगा। 

बीते दिनों मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा नेता इमरती देवी के खिलाफ विवादित टिप्पणी कर दी थी। इस पर विवाद बढ़ जाने के बाद चुनाव आयोग ने कमलनाथ को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था। कमलनाथ द्वारा नोटिस का जवाब दिए जाने के बाद आयोग ने कहा कि उन्होंने भाजपा महिला प्रत्याशी के लिए आइटम जैसे शब्द का इस्तेमाल कर चुनाव प्रचार के नियमों को उल्लंघन किया है। आयोग ने कमलनाथ को सलाह देते हुए कहा कि किसी जनसभा को संबोधित करने के दौरान ऐसे शब्दों का इस्तेमाल न करें, खासकर जब आचार संहिता लागू हो। 

चुनाव आयोग ने मंगलवार को मध्यप्रदेश के उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी इमरती देवी को राजनीतिक प्रतिद्वंदी को पागल कहने और उनके परिवार की महिला सदस्यों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए नोटिस जारी किया है। आयोग ने 48 घंटे के अंदर नोटिस का जवाब देने को कहा है। अगर इमरती देवी ने आयोग द्वारा दी गई समय-सीमा के अंदर जवाब नहीं दिया, तो फिर आयोग इस संदर्भ में उचित कार्रवाई करेगा। 

बीते दिनों मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा नेता इमरती देवी के खिलाफ विवादित टिप्पणी कर दी थी। इस पर विवाद बढ़ जाने के बाद चुनाव आयोग ने कमलनाथ को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था। कमलनाथ द्वारा नोटिस का जवाब दिए जाने के बाद आयोग ने कहा कि उन्होंने भाजपा महिला प्रत्याशी के लिए आइटम जैसे शब्द का इस्तेमाल कर चुनाव प्रचार के नियमों को उल्लंघन किया है। आयोग ने कमलनाथ को सलाह देते हुए कहा कि किसी जनसभा को संबोधित करने के दौरान ऐसे शब्दों का इस्तेमाल न करें, खासकर जब आचार संहिता लागू हो। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here