Madhya Pradesh: Congress Mla Hardeep Singh Dung Resigns, Kamal Nath Government In Crisis – मध्यप्रदेश: कांग्रेस विधायक हरदीप सिंह डंग ने दिया इस्तीफा, संकट में कमलनाथ सरकार

0
40


कांग्रेस विधायक हरदीप सिंह डंग
– फोटो : ANI

ख़बर सुनें

मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ की अगुवाई वाली कांग्रेस पार्टी की सरकार पर संकट के बादल छा गए हैं। दरअसल, कांग्रेस के चार लापता विधायकों में से एक हरदीप सिंह डंग ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति को भेजा है।
 

विधानसभा अध्यक्ष को भेजे पत्र में डंग ने कहा कि दूसरी बार लोगों का जनादेश मिलने के बावजूद पार्टी में उनकी लगातार अनदेखी की जा रही है। उन्होंने अपने पत्र में कहा कि कोई भी मंत्री काम करने के लिए तैयार नहीं है, क्योंकि वे एक भ्रष्ट सरकार का हिस्सा हैं।

बसपा-सपा विधायक ने कहा कमलनाथ सरकार के साथ
डंग के इस्तीफे से इतर मध्यप्रदेश में कांग्रेस नेतृत्व वाली कमलनाथ सरकार पर छाए संकट के बादलों के बीच थोड़ी राहत वाली खबर भी है। सपा विधायक राजेश शुक्ला और बसपा विधायक संजीव कुशवाहा ने गुरुवार को कहा कि वह सरकार के साथ हैं। उन्हें सरकार से समर्थन वापस लेकर भाजपा के साथ आने के लिए कोई ऑफर नहीं मिला है।

दोनों ही विधायकों ने दावा किया कि उन्हें गुरुग्राम के होटल में बंधक बनाकर नहीं रखा गया था। शुक्ला ने कहा कि हम इमानदारी से कमलनाथ सरकार के साथ हैं, हमारा समर्थन उन्हें जारी रहेगा। अगर सरकार को कोई खतरा है तो वह कांग्रेस के ही कुछ भितरघातियों से है हमसे नहीं। हमें कोई प्रलोभन नहीं दिया गया है।

शुक्ला की तरह ही कुशवाहा ने भी कहा कि उन्हें भी कोई प्रस्ताव नहीं दिया गया है। अगर कांग्रेस नेताओं के पास कोई सबूत है तो पेश करें। हम बसपा सुप्रीमो मायावती के निर्देशों का पालन करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस को राज्यसभा की सीट बसपा को देनी चाहिए।

कांग्रेस ने गुरुवार को मध्यप्रदेश में जारी राजनीतिक उठापटक और घमासान का ठीकरा भाजपा पर फोड़ा। पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने नई दिल्ली में आरोप लगाया कि भाजपा प्रजातंत्र का चीरहरण कर सत्ता की भूख मिटाना चाहती है। उन्होंने कहा कि भाजपा का सरकारों को गिराने का काम नया नहीं है। वह अभी तक आधा दर्जन राज्यों में निर्वाचित कांग्रेस सरकारों को गिरा चुकी है या ऐसी कोशिश कर चुकी है। 

उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा खरीद-फरोख्त के बजाए सदन में बहुमत से क्यों भाग रही है। मध्यप्रदेश सरकार को जरूरी बहुमत से अधिक विधायकों का समर्थन है। कांग्रेस के अपने 114 विधायक हैं और एक निर्दलीय प्रदीप जायसवाल का भी समर्थन है। इसके अलावा दो बसपा और एक सपा विधायक ने भी सरकार में आस्था व्यक्त की है। 

सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि भाजपा राज्य के 14 विधायकों को अगवा कर ले गई थी। व्यापम घोटाले, चिटफंड और टेंडर घोटाले में भाजपा नेताओं की संलिप्तता की परतें खुल रही हैं। इसे देखते हुए भाजपा को लगा कि अब कांग्रेस सरकार में न्याय के अनुसार उसके नेताओं को जेल की सलाखों के पीछे जाना पड़ेगा। इसलिए सरकार गिराने की साजिश की जा रही है।

मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ की अगुवाई वाली कांग्रेस पार्टी की सरकार पर संकट के बादल छा गए हैं। दरअसल, कांग्रेस के चार लापता विधायकों में से एक हरदीप सिंह डंग ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति को भेजा है।

 

विधानसभा अध्यक्ष को भेजे पत्र में डंग ने कहा कि दूसरी बार लोगों का जनादेश मिलने के बावजूद पार्टी में उनकी लगातार अनदेखी की जा रही है। उन्होंने अपने पत्र में कहा कि कोई भी मंत्री काम करने के लिए तैयार नहीं है, क्योंकि वे एक भ्रष्ट सरकार का हिस्सा हैं।

बसपा-सपा विधायक ने कहा कमलनाथ सरकार के साथ
डंग के इस्तीफे से इतर मध्यप्रदेश में कांग्रेस नेतृत्व वाली कमलनाथ सरकार पर छाए संकट के बादलों के बीच थोड़ी राहत वाली खबर भी है। सपा विधायक राजेश शुक्ला और बसपा विधायक संजीव कुशवाहा ने गुरुवार को कहा कि वह सरकार के साथ हैं। उन्हें सरकार से समर्थन वापस लेकर भाजपा के साथ आने के लिए कोई ऑफर नहीं मिला है।

दोनों ही विधायकों ने दावा किया कि उन्हें गुरुग्राम के होटल में बंधक बनाकर नहीं रखा गया था। शुक्ला ने कहा कि हम इमानदारी से कमलनाथ सरकार के साथ हैं, हमारा समर्थन उन्हें जारी रहेगा। अगर सरकार को कोई खतरा है तो वह कांग्रेस के ही कुछ भितरघातियों से है हमसे नहीं। हमें कोई प्रलोभन नहीं दिया गया है।

शुक्ला की तरह ही कुशवाहा ने भी कहा कि उन्हें भी कोई प्रस्ताव नहीं दिया गया है। अगर कांग्रेस नेताओं के पास कोई सबूत है तो पेश करें। हम बसपा सुप्रीमो मायावती के निर्देशों का पालन करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस को राज्यसभा की सीट बसपा को देनी चाहिए।


आगे पढ़ें

लोकतंत्र का चीरहरण कर सत्ता की भूख मिटाना चाहती है भाजपा : सुरजेवाला





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here