Hackers Steal Username Passwords Of Over 9000 Accounts Of Canada Government – कनाडाई सरकार के 9000 से अधिक खातों के यूजरनेम और पासवर्ड पर हैकरों ने लगाई सेंध

    0
    49


    वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला ओट्टावा
    Updated Mon, 17 Aug 2020 02:34 AM IST

    पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
    कहीं भी, कभी भी।

    *Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

    ख़बर सुनें

    कनाडा में ऑनलाइन सरकारी सेवाओं के यूजर अकाउंट्स को हाल ही में साइबर अटैक के दौरान हैक कर लिया गया। कनाडा सचिवालय के ट्रेजरी बोर्ड ने बताया कि हैकिंग के बाद जीसीकी सर्विस को टारगेट किया, जिसका 30 संघीय विभागों और कनाडा के राजस्व एजेंसी अकाउंट्स द्वारा इस्तेमाल होता था।

    अधिकारियों के मुताबिक, हैकर्स ने 9,041 जीसीकी खाता धारक के पासवर्ड और यूजरनेम सरकारी सेवाओं तक पहुंचने और इस्तेमाल के लिए उपयोग किए थे। जिससे हैकर्स कई संवेदनशील जानकारियों तक पहुंच सकते थे। हालांकि, अब सभी हैक किए गए खातों को कैंसल कर दिया गया है।

    अधिकारियों का कहना है कि लगभग 5,500 कनाडा रेवेन्यू एजेंसी अकाउंट्स को साइबर अटैक में निशाना बनाया गया है। हालांकि, टैक्सपेयर्स की जानकारी की सुरक्षा के लिए इन खातों के एक्सेस को रद्द कर दिया गया है।

    हालांकि, यह अभी तक साफ नहीं हो पाया है कि हैकिंग के दौरान किसी प्रकार की गोपनीयता के उल्लंघन और खातों से जुड़ी अन्य जानकारी हासिल की गई हैं या नहीं। फिलहाल इस मामले में पड़ताल की जा रही है।

    कनाडा में ऑनलाइन सरकारी सेवाओं के यूजर अकाउंट्स को हाल ही में साइबर अटैक के दौरान हैक कर लिया गया। कनाडा सचिवालय के ट्रेजरी बोर्ड ने बताया कि हैकिंग के बाद जीसीकी सर्विस को टारगेट किया, जिसका 30 संघीय विभागों और कनाडा के राजस्व एजेंसी अकाउंट्स द्वारा इस्तेमाल होता था।

    अधिकारियों के मुताबिक, हैकर्स ने 9,041 जीसीकी खाता धारक के पासवर्ड और यूजरनेम सरकारी सेवाओं तक पहुंचने और इस्तेमाल के लिए उपयोग किए थे। जिससे हैकर्स कई संवेदनशील जानकारियों तक पहुंच सकते थे। हालांकि, अब सभी हैक किए गए खातों को कैंसल कर दिया गया है।

    अधिकारियों का कहना है कि लगभग 5,500 कनाडा रेवेन्यू एजेंसी अकाउंट्स को साइबर अटैक में निशाना बनाया गया है। हालांकि, टैक्सपेयर्स की जानकारी की सुरक्षा के लिए इन खातों के एक्सेस को रद्द कर दिया गया है।

    हालांकि, यह अभी तक साफ नहीं हो पाया है कि हैकिंग के दौरान किसी प्रकार की गोपनीयता के उल्लंघन और खातों से जुड़ी अन्य जानकारी हासिल की गई हैं या नहीं। फिलहाल इस मामले में पड़ताल की जा रही है।



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here