Delhi Violence: 654 Cases Registered 1820 People Detained Or Arrested – दिल्ली हिंसाः मृतकों की संख्या 53, 1820 लोग गिरफ्तार व हिरासत में, 654 एफआईआर दर्ज

0
52


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Thu, 05 Mar 2020 08:39 PM IST

दिल्ली हिंसा के बाद सुरक्षा में लगी पुलिस
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में कई दिन तक चली हिंसा के बाद अब हालात पूरी तरह सामान्य है। प्रभावित इलाकों में पुलिस लगातार गश्त कर रही है। बृहस्पतिवार को जिले में हुई हिंसा में मृतकों की संख्या 53 तक पहुंच गई है। जीटीबी अस्पताल में इलाज के दौरान तीन व जग प्रवेश चंद अस्पताल में एक शख्स ने दम तोड़ दिया। 

दूसरी ओर हिंसा मामले की लगातार मिल रही शिकायतों के बाद पुलिस अब तक कुल 654 एफआईआर दर्ज कर चुकी है। पुलिस ने वीडियो, सीसीटीवी फुटेज व अन्य लोगों से पूछताछ के बाद 1820 लोगों को हिरासत में लिया है। 

हिंसा के बाद बृहस्पतिवार को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने एक बार फिर प्रभावित इलाकों का दौरा किया। उनके साथ पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव भी थे। बाद में अनिल बैजल ने पुलिस उपायुक्त कार्यालय में अमन कमेटी के सदस्यों के साथ बैठक कर जिले में शांति स्थापित करने के लिए कहा। 

दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि हिंसा मामले की जांच जारी है। पुलिस ने हिंसा मामले में 654 एफआईआर दर्ज करने के अलावा आर्म्स एक्ट की 47 अलग एफआईआर दर्ज की है। इसके अलावा जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी अमन कमेटी के सदस्यों के साथ बैठक कर आपसी भाईचारा बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं। 

पुलिस अधिकारी अब तक 226 अमन कमेटी की बैठक कर चुके हैं। दिल्ली पुलिस आधिकारिक तौर पर 44 लोगों की की मौत की पुष्टि कर रही है। वहीं, अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार अब तक कुल 44 मौत जीटीबी, 1 जग प्रवेश चंद अस्पताल, 5 आरएमएल अस्पताल व 3 मौतें एलएनजेपी अस्पताल में हुई हैं। हिंसा में घायल कई लोगों की हालत अब भी नाजुक बनी हुई है। 

उधर हिंसा के बाद लोग अपने उजड़े हुए घरों व दुकानों पर लौटने लगे हैं। बृहस्पतिवार को कई लोग अपने-अपने घरों की सुध लेने पहुंचे। कुछ लोगों का कहना है कि वे जल्द ही दूसरे इलाकों में शिफ्ट करने की योजना बना रहे हैं। बता दें कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में 23, 24 और 25 फरवरी को हुई हिंसा में 53 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 300 से अधिक लोग जख्मी हो गए थे।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में कई दिन तक चली हिंसा के बाद अब हालात पूरी तरह सामान्य है। प्रभावित इलाकों में पुलिस लगातार गश्त कर रही है। बृहस्पतिवार को जिले में हुई हिंसा में मृतकों की संख्या 53 तक पहुंच गई है। जीटीबी अस्पताल में इलाज के दौरान तीन व जग प्रवेश चंद अस्पताल में एक शख्स ने दम तोड़ दिया। 

दूसरी ओर हिंसा मामले की लगातार मिल रही शिकायतों के बाद पुलिस अब तक कुल 654 एफआईआर दर्ज कर चुकी है। पुलिस ने वीडियो, सीसीटीवी फुटेज व अन्य लोगों से पूछताछ के बाद 1820 लोगों को हिरासत में लिया है। 

हिंसा के बाद बृहस्पतिवार को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने एक बार फिर प्रभावित इलाकों का दौरा किया। उनके साथ पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव भी थे। बाद में अनिल बैजल ने पुलिस उपायुक्त कार्यालय में अमन कमेटी के सदस्यों के साथ बैठक कर जिले में शांति स्थापित करने के लिए कहा। 

दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि हिंसा मामले की जांच जारी है। पुलिस ने हिंसा मामले में 654 एफआईआर दर्ज करने के अलावा आर्म्स एक्ट की 47 अलग एफआईआर दर्ज की है। इसके अलावा जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी अमन कमेटी के सदस्यों के साथ बैठक कर आपसी भाईचारा बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं। 

पुलिस अधिकारी अब तक 226 अमन कमेटी की बैठक कर चुके हैं। दिल्ली पुलिस आधिकारिक तौर पर 44 लोगों की की मौत की पुष्टि कर रही है। वहीं, अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार अब तक कुल 44 मौत जीटीबी, 1 जग प्रवेश चंद अस्पताल, 5 आरएमएल अस्पताल व 3 मौतें एलएनजेपी अस्पताल में हुई हैं। हिंसा में घायल कई लोगों की हालत अब भी नाजुक बनी हुई है। 

उधर हिंसा के बाद लोग अपने उजड़े हुए घरों व दुकानों पर लौटने लगे हैं। बृहस्पतिवार को कई लोग अपने-अपने घरों की सुध लेने पहुंचे। कुछ लोगों का कहना है कि वे जल्द ही दूसरे इलाकों में शिफ्ट करने की योजना बना रहे हैं। बता दें कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में 23, 24 और 25 फरवरी को हुई हिंसा में 53 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 300 से अधिक लोग जख्मी हो गए थे।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here