Coronavirus News In Hindi: First Case In Delhi And Telangana All Updates Information About Covid19 – Coronavirus: भारत में दो नए मामलों की पुष्टि, दिल्ली में मिला पहला मरीज

0
57


ख़बर सुनें

चीन के वुहान शहर में से शुरू हुआ कोरोनावायरस का कहर वैश्विक स्तर पर बढ़ता ही जा रहा है। भारत में सोमवार को कोरोनावायरस के दो नए मामलों की पुष्टि हुई है। भारत सरकार ने देश में कोरोनावायरस से दो और लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि की है। इसमें से एक मरीज नई दिल्ली और दूसरा तेलंगाना से है। दोनों मरीजों की हालत अभी स्थिर बताई जा रही है और उनपर करीबी से नजर रखी जा रही है। दिल्ली और तेलंगाना में कोरोनावायरस का यह पहला मामला है।

 

 

 

इटली में फंसे 85 भारतीय छात्रों ने सरकार को भेजा आपात संदेश

वहीं, उत्तरी इटली के यूनिवर्सिटी ऑफ पाविया में लगभग 85 भारतीय छात्र एक हफ्ते से फंसे हुए हैं। यहां पिछले कुछ दिनों में 17 लोगों की मौत हो चुकी है। छात्रों ने सरकार को एसओएस (आपात संदेश) संदेश भेजा है ताकि उन्हें जल्द से जल्द यहां से निकाला जा सके। कुछ छात्रों ने भारत जाने के लिए फ्लाइट बुक कराई थी, लेकिन कोरोनावायरस के नए मामले सामने आने की वजह से उसे रद्द कर दिया गया। छात्रों में डर इसलिए भी है क्योंकि यूनिवर्सिटी ऑफ पाविया के इंजीनियरिंग विभाग के गैर-शिक्षण संकाय कोरोनावायरस की चपेट में है। लगभग 15 अन्य स्टाफ के सदस्यों का क्वारंटाइन किया गया है। 

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, पाविया में फंसे 85 भारतीयों में से 25 तेलंगाना, 20 कर्नाटक, 15 तमिलनाडु, चार केरल, दो दिल्ली और एक-एक राजस्थान, गुड़गांव और देहरादून के हैं। इनमें से लगभग 65 इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे हैं।  इंडस्ट्रियल ऑटोमेशन के छात्र पुरुषोत्तम कुमार मधु जो 10 मार्च को भारत वापस आने वाले हैं उन्हें इस बात को लेकर अनिश्चितता है कि फ्लाइट उड़ान भरेगी या नहीं। उन्होंने कहा, ‘मुझे बताया गया है कि खाड़ी से होकर जाने वाली ज्यादातर फ्लाइ्ट रद्द हो गई हैं। भारत पहुंचने पर भारतीयों को 10-15 दिनों के लिए हवाई अड्डे पर क्वारेनटाइन किया जा रहा है जो चिंता का विषय है।’

 

दुनियाभर में अब तक लगभग तीन हजार लोगों की मौत

वहीं, चीन में कोरोनावायरस से 42 और लोगों की मौत होने की सूचना के साथ चीन में इस संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़ कर 2912 हो गई है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने सोमवार को बताया इस महामारी से दुनिया भर में 3,000 लोगों की जान चली गई है और 88,000 से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। कोरोनावायरस दुनियाभर में अब तक लगभग 89 हजार लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है। इस घातक वायरसस  का असर अबतक 70 देशों में फैल चुका है। चीन के बाद इस वायरस का सबसे ज्यादा असर दक्षिण कोरिया में है।

अमेरिका में दूसरी मौत

वाशिंगटन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने रविवार रात को बताया कि कोरोनावायरस से एक और व्यक्ति की मौत हो गई। यह अमेरिका में इस वायरस से मौत का दूसरा मामला है। शोधकर्ताओं ने बताया कि ग्रेटर सिएटल इलाके में शायद कई हफ्तों से फैल रहे वायरस का पता नहीं लगाया जा सका। सिएटल और किंग काउंटी की जनस्वास्थ्य सेवा ने एक बयान में कहा कि 70 वर्षीय एक व्यक्ति की कोरोनावायरस से मौत हो गई।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि इससे पहले शुक्रवार को वायरस से 50 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई थी। दोनों स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों से ग्रसित थे। दोनों का पूर्वी सिएटल के किर्कलैँड के एक अस्प्ताल में इलाज किया गया था। वाशिंगटन में अब तक संक्रमण के 12 मामले की पुष्टि हो चुकी है। सिएटल क्षेत्र के अधिकारियों ने कहा कि लगभग 60 साल के दो संक्रमित व्यक्ति की हालत नाजुक है, जिनका कोविड-19 वायरस के संक्रमण का इलाज किया गया। कैलिफोर्निया के दो स्वास्थ्य कर्मियों का भी इलाज किया गया। वाशिंगटन में शनिवार को एक 50 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई और स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि वाशिंगटन के किर्कलैंड में नर्सिंग सुविधा में भर्ती 50 अन्य लोग बीमार हैं और उनके वायरस संक्रमण की जांच की जा रही है।

चीन के वुहान शहर में से शुरू हुआ कोरोनावायरस का कहर वैश्विक स्तर पर बढ़ता ही जा रहा है। भारत में सोमवार को कोरोनावायरस के दो नए मामलों की पुष्टि हुई है। भारत सरकार ने देश में कोरोनावायरस से दो और लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि की है। इसमें से एक मरीज नई दिल्ली और दूसरा तेलंगाना से है। दोनों मरीजों की हालत अभी स्थिर बताई जा रही है और उनपर करीबी से नजर रखी जा रही है। दिल्ली और तेलंगाना में कोरोनावायरस का यह पहला मामला है।

 

 

 

इटली में फंसे 85 भारतीय छात्रों ने सरकार को भेजा आपात संदेश

वहीं, उत्तरी इटली के यूनिवर्सिटी ऑफ पाविया में लगभग 85 भारतीय छात्र एक हफ्ते से फंसे हुए हैं। यहां पिछले कुछ दिनों में 17 लोगों की मौत हो चुकी है। छात्रों ने सरकार को एसओएस (आपात संदेश) संदेश भेजा है ताकि उन्हें जल्द से जल्द यहां से निकाला जा सके। कुछ छात्रों ने भारत जाने के लिए फ्लाइट बुक कराई थी, लेकिन कोरोनावायरस के नए मामले सामने आने की वजह से उसे रद्द कर दिया गया। छात्रों में डर इसलिए भी है क्योंकि यूनिवर्सिटी ऑफ पाविया के इंजीनियरिंग विभाग के गैर-शिक्षण संकाय कोरोनावायरस की चपेट में है। लगभग 15 अन्य स्टाफ के सदस्यों का क्वारंटाइन किया गया है। 

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, पाविया में फंसे 85 भारतीयों में से 25 तेलंगाना, 20 कर्नाटक, 15 तमिलनाडु, चार केरल, दो दिल्ली और एक-एक राजस्थान, गुड़गांव और देहरादून के हैं। इनमें से लगभग 65 इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे हैं।  इंडस्ट्रियल ऑटोमेशन के छात्र पुरुषोत्तम कुमार मधु जो 10 मार्च को भारत वापस आने वाले हैं उन्हें इस बात को लेकर अनिश्चितता है कि फ्लाइट उड़ान भरेगी या नहीं। उन्होंने कहा, ‘मुझे बताया गया है कि खाड़ी से होकर जाने वाली ज्यादातर फ्लाइ्ट रद्द हो गई हैं। भारत पहुंचने पर भारतीयों को 10-15 दिनों के लिए हवाई अड्डे पर क्वारेनटाइन किया जा रहा है जो चिंता का विषय है।’

 

दुनियाभर में अब तक लगभग तीन हजार लोगों की मौत

वहीं, चीन में कोरोनावायरस से 42 और लोगों की मौत होने की सूचना के साथ चीन में इस संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़ कर 2912 हो गई है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने सोमवार को बताया इस महामारी से दुनिया भर में 3,000 लोगों की जान चली गई है और 88,000 से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। कोरोनावायरस दुनियाभर में अब तक लगभग 89 हजार लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है। इस घातक वायरसस  का असर अबतक 70 देशों में फैल चुका है। चीन के बाद इस वायरस का सबसे ज्यादा असर दक्षिण कोरिया में है।

अमेरिका में दूसरी मौत

वाशिंगटन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने रविवार रात को बताया कि कोरोनावायरस से एक और व्यक्ति की मौत हो गई। यह अमेरिका में इस वायरस से मौत का दूसरा मामला है। शोधकर्ताओं ने बताया कि ग्रेटर सिएटल इलाके में शायद कई हफ्तों से फैल रहे वायरस का पता नहीं लगाया जा सका। सिएटल और किंग काउंटी की जनस्वास्थ्य सेवा ने एक बयान में कहा कि 70 वर्षीय एक व्यक्ति की कोरोनावायरस से मौत हो गई।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि इससे पहले शुक्रवार को वायरस से 50 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई थी। दोनों स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों से ग्रसित थे। दोनों का पूर्वी सिएटल के किर्कलैँड के एक अस्प्ताल में इलाज किया गया था। वाशिंगटन में अब तक संक्रमण के 12 मामले की पुष्टि हो चुकी है। सिएटल क्षेत्र के अधिकारियों ने कहा कि लगभग 60 साल के दो संक्रमित व्यक्ति की हालत नाजुक है, जिनका कोविड-19 वायरस के संक्रमण का इलाज किया गया। कैलिफोर्निया के दो स्वास्थ्य कर्मियों का भी इलाज किया गया। वाशिंगटन में शनिवार को एक 50 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई और स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि वाशिंगटन के किर्कलैंड में नर्सिंग सुविधा में भर्ती 50 अन्य लोग बीमार हैं और उनके वायरस संक्रमण की जांच की जा रही है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here